Mahatma Gandhi Quotes in Hindi- महात्मा गाँधी के अनमोल विचार

 1- Nonviolence is a religion, that is the only way of life.

अहिंसा ही धर्म है, वही जिंदगी का एक रास्ता है।

 

2-  Use of Hindi in national practice is essential for the advancement of the country.

राष्ट्रीय व्यवहार में हिन्दी को काम में लाना देश की उन्नति के लिए आवश्यक है।

 

3-  It is the quality of our work which will please God and not the quantity.

यह हमारे काम की गुणवत्ता है जो भगवान को प्रसन्न करेगी, न कि मात्रा।

 

4-  My religion is based on truth and non-violence. Truth is my God, nonviolence means to get it.

मेरा धर्म सत्य और अहिंसा पर आधारित है। सत्य मेरा भगवान है, अहिंसा उसे पाने का साधन।

 

5-  Where there is love there is life.

जहाँ प्यार है, वहाँ जीवन है।

 

6-  Some people dream of success while others awake and work hard.

कुछ लोग सफलता के सपने देखते है जबकि कुछ लोग जागते है और कड़ी मेहनत करते है।

 

7-  The Earth provides enough resources to meet the needs of all human beings, but not to covet greed.

पृथ्वी सभी मनुष्यों की ज़रुरत पूरी करने के लिए पर्याप्त संसाधन प्रदान करती है, लेकिन लालच पूरी करने के लिए नहीं।

 

8-  We do not need to proselytise either by our speech or by our writing. We can only do so really with our lives. Let our lives be open books for all to study.

हमें या तो हमारे भाषण या हमारे लेखन द्वारा धर्मनिरपेक्षता की आवश्यकता नहीं है। हम केवल अपने जीवन के साथ ही ऐसा कर सकते हैं। अध्ययन के लिए सभी के लिए हमारी जिंदगी खुली किताबें बनें।

 

9-  Truth never hurts a cause which is justified.

सत्य कभी ऐसे कारण को क्षति नहीं पहुंचाता जो उचित हो।

 

10-  The weak can never forgive. Forgiveness is the attribute of the strong.

कमज़ोर कभी माफ नहीं कर सकते। क्षमा ताकतवर की विशेषता है।

 

11-  Anger is a huge fire, which man can subdue this fire, he will extinguish it. The person who can not control this fire, he himself will burn himself.

क्रोध एक प्रचंड अग्नि है, जो मनुष्य इस अग्नि को कम कर सकता है, वह उसे बुझा देगा। वह व्यक्ति जो इस अग्नि को नियंत्रित नहीं कर सकता, वह स्वयं खुद को जला देगा।

 

12-  The best way to know yourself is to immerse yourself in service to others.

खुद को जानने का सबसे अच्छा तरीका है दूसरों को सेवा में खुद को विसर्जित करना।

 

13-  Man’s nature is not essentially evil. Brute nature has been known to yield to the influence of love. You must never despair of human nature.

मनुष्य की प्रकृति अनिवार्य रूप से बुरा नहीं है। ब्रूट प्रकृति को प्यार के प्रभाव को जन्म देने के लिए जाना जाता है। आपको मानव प्रकृति की निराशा कभी नहीं करना चाहिए।

 

14-  Poverty is not a curse but an unmanned conspiracy.

गरीबी अभिशाप नहीं बल्कि मानवरचित षडयन्त्र है।

 

15-  Truth is also standing without public support, it is self-sufficient.

सत्य बिना जन समर्थन के भी खड़ा रहता है, वह आत्मनिर्भर है।

 

16-  Those who are hungry for their appreciation, they express that they do not have the qualifications.

जो लोग अपनी प्रशंसा के भूखे होते हैं, वे ये व्यक्त करते हैं कि उनमें योग्यता नहीं है।

 

17–  I am in the world feeling my way to light ‘amid the encircling gloom.

मैं घूमने वाली उदासी के बीच ‘प्रकाश में अपना रास्ता महसूस कर रहा हूं।

 

18-  The greatness and moral progress of a country can be judged from how animals are treated there.

एक देश की महानता और नैतिक प्रगति को इस बात से आँका जा सकता है कि वहां जानवरों से कैसे व्यवहार किया जाता है। 

 

19-  The value of books is more than gems, because books brighten the consonant.

पुस्तकों का मूल्य रत्नों से भी अधिक है, क्योंकि पुस्तकें अन्तःकरण को उज्ज्वल करती है।

 

20-  Do not lose faith in humanity. Humanity is like the ocean; If some drops of ocean are dirty, then the ocean does not get messy.

आप मानवता में विश्वास मत खोइए। मानवता सागर की तरह है; अगर सागर की कुछ बूँदें गन्दी हैं, तो सागर गन्दा नहीं हो जाता।

 

21-  Purification of character should be the goal of knowledge only.

चरित्र की शुद्धि ही ज्ञान का लक्ष्य होनी चाहिए।

 

22-  Honest disagreement is often a good sign of progress.

ईमानदार असहमति अक्सर प्रगति का एक अच्छा संकेत है।

 

23-  There is no way of peace, there is only peace.

शांति का कोई रास्ता नहीं है, केवल शांति है।

 

24-  A little practice is better than many precepts.

थोडा सा अभ्यास बहुत सारे उपदेशों से बेहतर है।

 

25-  Non-violence is the biggest force in the settlement of mankind. It is powerful with the most powerful weapon of humans, with the cleverly prepared destruction.

मानव जाति के निपटारे में अहिंसा सबसे बड़ी ताकत है। यह मनुष्यों की चतुरता से तैयार विनाश के सबसे शक्तिशाली हथियार से शक्तिशाली है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *